Connect with us

Ayurvedic

असली शिलाजीत की पहचान कैसे करें?

Published

on

असली शिलाजीत की पहचान कैसे करें?- (asli shilajit ki pehchan) शिलाजीत एक काला पदार्थ है। यह पहाड़ों की चोटियों में मौजूद धातु में पाया जाता है। और यह पहाड़ों की चोटियों में मौजूद धातु का सूर्य की किरणों के कारण पिघलने से बनता है। इसे पत्थर का पसीना भी कहा जाता है।

इसकी सुगंध गोमूत्र जैसी होती है। इसमें कई प्रकार के खनिज तत्व पाए जाते है। इसलिए इसको औषधि के रूप प्रयोग किया जाता है। यह बहुत ही दुर्लभ तथा शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

असली शिलाजीत की पहचान

असली शिलाजीत की पहचान करने के कई तरीके होते हैं आइये जानते हैं असली शिलाजीत की पहचान करने के कुछ मुख्य क्या होते हैं।

असली शिलाजीत की पहचान
  • असली शिलाजीत की पहचान करने के लिए आप एक लोहे की कील ले और उसकी नोक पर थोड़ा सा शिलाजीत लगाए और फिर कील की नोक पर लगे शिलाजीत को आग में जलाये। शिलाजीत गर्म होने पर पिघल कर निचे आ जाये तो वह नकली होगा। या फिर गर्म होने के बाद भी उसी पर टिका रहता है और ऊपर की ओर उठने लगता है तो वह शिलाजीत असली होगा।
  • गर्म पानी में शिलाजीत थोड़ी ही देर में घुल जाता है और सतह पर कोई गन्दगी भी नहीं जमती है जबकि नकली शिलाजीत या तो पानी में घुलता नहीं या घुलने के बाद उसकी सारी गंदगी निचे सतह पर बैठ जाती है।
  • शिलाजीत के छोटे से टुकड़े को लकड़ी के टुकड़े पर रख कर आग में जलाने से वह फूलने लगता है और ऊपर की तरफ उठता है जबकि नकली शिलाजीत पिघलकर निचे फ़ैल जाता है।
  • नकली शिलाजीत के छोटे टुकड़े को आग में डालने से धुआँ निकलने लगता है जबकि असली शिलाजीत में ऐसा नहीं होता है।
  • असली शिलाजीत की सुगंध गोमूत्र के समान होती है और यह हल्का काला और चिकना होता है।

शिलाजीत के गुण और उसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व

पौष्टिक तत्व- आयरन, ज़िंक, मैग्नीशियम, सेलेनियम, प्रोटीन
गुण- एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी ऑक्सीडेंट

शिलाजीत के प्रकार

No. 1 स्वर्ण शिलाजीत
No. 2रजत शिलाजीत
No. 3ताम्र शिलाजीत
No. 4लौह शिलाजीत

शिलाजीत के फायदे

शिलाजीत के फायदे हमारे शरीर को निम्नलिखित रूपों में मिलता है ज्यादातर लोग यौन शक्ति बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं लेकिन इसके और भी बहुत सारे फायदे होते हैं। आइये जानते हैं की शिलाजीत के इस्तेमाल से हमें क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

मधुमेह रोग के लिए

शिलाजीत के फायदे अनेकों हैं शिलाजीत में मधुमेहरोधी गुण होता है और यह खून में मौजूद शुगर को कम करता है। और मधुमेह की बीमारी से राहत दिलाता है।

दिमाग की समस्या के लिए

शिलाजीत के प्रयोग से तनाव कम हो जाता है। यह एकग्रता में सुधार लाता है। तथा दिमाग की सोचने की क्षमता बढ़ाता है। इसके अलावा अल्जाइमर रोग को भी दूर करता है।

बढ़ाये इम्युनिटी

शिलाजीत का उपयोग बहुत ही लाभकारी होता है। यह शरीर में रोग से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है। इम्युनिटी पावर बढ़ाने में शिलाजीत (sheelajit) बहुत ही लाभकारी होता है।

बढती उम्र के लक्षण को दूर करे

शिलाजीत में एंटी-एजिंग का गुण होता है इसलिए इसके प्रयोग से बढ़ती उम्र की लगभग सभी समस्या दूर हो जाती है।

यौन समस्या के लिए

शिलाजीत का प्रयोग खासकर यौन समस्या के लिए ही किया जाता है। यह पुरुषो में स्वाथ्य शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ता है साथ ही उनकी यौन इच्छा और क्षमता को भी मजबूत बनाता है।

बांझपन रोग में सहायक

बांझपन के रोगी के लिए शिलाजीत लाभकारी हो सकता है। क्योकि शिलाजीत में प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले गुण होते है।

खून की कमी को करे पूरा

शिलाजीत में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है। जो खून बढ़ाने में काफी मदद करता है। और साथ ही चक्कर आना, थकान होना, एनीमिया जैसे रोग से राहत दिलाता है।

कोलेस्ट्रॉल घटाएं

शिलाजीत के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है। जिससे खून का दौरा सही हो जाता है और हमें ह्रदय रोग होने की संभावना कम हो जाती है।

शिलाजीत के नुकसान

  • किसी का ब्लड प्रेशर पहले से ही अधिक है। तो उन्हें शिलाजीत के प्रयोग से बचना चाहिए। क्योंकि शिलाजीत ब्लड प्रेशर को और बढ़ा सकता है। शिलाजीत के नुकसान से बचने के लिए डाक्टर की सलाह लेनी चाहिये।
  • शिलाजीत के नुकसान से बचने के लिए शिलाजीत को एक हफ्ते में केवल दो बार मटर के दाने के बराबर गर्म दूध के साथ ही लेना चाहिए।
  • शिलाजीत का असर गर्म होता है इसलिए इसके ज्यादा इस्तेमाल से सिर दर्द जैसी समस्या हो सकती है।

FAQs: About shilajit

असली शिलाजीत की क्या पहचान होती है?

असली शिलाजीत की पहचान करने के लिए आप एक लोहे की कील ले और उसकी नोक पर थोड़ा सा शिलाजीत लगाए और फिर कील की नोक पर लगे शिलाजीत को आग में जलाये। शिलाजीत गर्म होने पर पिघल कर निचे आ जाये तो वह नकली होगा। या फिर गर्म होने के बाद भी उसी पर टिका रहता है और ऊपर की ओर उठने लगता है तो वह शिलाजीत असली होगा।

शिलाजीत खाने से क्या नुकसान होता है?

किसी का ब्लड प्रेशर पहले से ही अधिक है। तो उन्हें शिलाजीत के प्रयोग से बचना चाहिए। क्योंकि शिलाजीत ब्लड प्रेशर को और बढ़ा सकता है। शिलाजीत के नुकसान से बचने के लिए डाक्टर की सलाह लेनी चाहिये।

शिलाजीत खाने से क्या फायदा?

शिलाजीत का प्रयोग खासकर यौन समस्या के लिए ही किया जाता है। यह पुरुषो में स्वाथ्य शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ता है साथ ही उनकी यौन इच्छा और क्षमता को भी मजबूत बनाता है।

शिलाजीत क्या रेट है?

शिलाजीत का कोई एक रेट नहीं है लेकिन लगभग शुद्ध शिलाजीत 2,000 प्रति 50 ग्राम होता है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों असली शिलाजीत की पहचान कैसे करें? इसके बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप असली शिलाजीत की पहचान के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: