Connect with us

Ayurvedic

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान आयुर्वेदिक औषधि

Published

on

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान- (haldi doodh ke fayde aur nuksan) हल्दी एक प्रकार की वनस्पति है। इस वनस्पति के पौधे की जड़ो में एक प्रकार की गांठ होती है जो हल्दी के नाम से जानी जाती है। इसका रंग पीला होता है। हल्दी की तासीर गर्म होती है।

इसे भारतीय वनस्पति के नाम से जाना जाता है। इसके जड़ो की गांठ देखने में अदरक जैसी होती है। उसी गांठ को अलग करके भांप की सहायता से उबला जाता है। फिर उसको धूप में सुखाकर पॉलिश किया जाता है। और इस तरह साबुत हल्दी तैयार होती है। फिर उसको पीसकर हल्दी पाउडर बनाया जाता है।

Table of Contents

हल्दी को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

हल्दी को इंग्लिश में turmeric कहते हैं। यह वनस्पति जि‍न्‍जि‍बरऐसे (Zingiberaceae) फैमली से है। इसका वैज्ञानिक नाम Curcuma longa होता है।

हल्दी अपने अनेक गुणों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। इसको बहुत ही शुभ माना जाता है। और इसका प्रयोग शुभ कार्य जैसे- पूजा पाठ और शादी विवाह आदि में किया जाता है। इसके अलावा इसे मसाले और औषधि के रूप में भी किया जाता है।

हल्दी में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्व

हल्दी में वसा (Fat), सोडियम (Sodium), कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate), फाइबर (Fiber), चीनी (Sugar), प्रोटीन (Protein), विटामिन-डी (Vitamin-D), कैल्शियम (Calcium), लोहा (Iron), पोटेशियम (Potassium) आदि पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं बस इसका सही से उपयोग करने पर हमें हल्दी के फायदे मिलते हैं और इसके नुकसान से बच सकते हैं।

चोट लगने के समय->

एक गांठ हल्दी को थोड़े से प्याज और हल्का पानी के साथ पीस ले। फिर उसको थोड़ा गरम कर ले। फिर तैयार पेस्ट को घाव पर लगा कर उसके ऊपर पट्टी बांध ले। जल्द ही आराम मिल जायेगा।

सुबह के समय हल्दी का उपयोग->

एक गिलास गरम पानी में आधा चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर खाली पेट पी सकते है।

सोने से पहले हल्दी दूध लाभ->

खाना खाने के एक घंटे बाद एक गिलास गरम दूध में आधा चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर पी सकते है।

हल्दी दूध के फायदे

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं लेकिन आइये जानते हैं की इसके सेवन से हमें क्या-क्या फायदे हो सकते हैं।

हल्दी दूध के फायदे और नुकसान

चेहरे के लिए हल्दी के फायदे

अगर कोई व्यक्ति अपने चेहरे पर हल्दी का लेप लगाए तो। उसे कील मुहासे चेहरे पर दाग जैसी समस्या नहीं होती है। और उसका चेहरा चमकदार (Shiny) करने लगता है। चेहरे पर पपड़ी (Crust) जैसी समस्या जड़ से ख़तम हो जाती है क्योंकि हल्दी में एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट तथा एंटी बैक्टीरियल जैसे गुण होते है।

मधुमेह के लिए हल्दी

मधुमेह के मरीजों के लिए हल्दी का सेवन अत्यंत गुणकारी होता है। यदि वे लोग अपनी रेगुलर दवा के अलावा हल्दी का सेवन करते है। तो उनको बहुत ही लाभ मिलता है। क्योंकि हल्दी में एंटी-डायबिटिक (Anti-diabetic) के गुण होते है।

हल्दी शरीर बनाये मजबूत

हल्दी से शरीर में जमा फैट कम होने लगता है। शरीर मजबूत बनाता है और शरीर का Toxic बाहर कर देता है।

घाव भरने में सहायक हल्दी

चोट लगने पर हल्दी और प्याज थोड़े से पानी के साथ पीसकर गरम कर ले। और तैयार पेस्ट को चोट पर लगाकर साफ कपडे या पट्टी से बांध दे। घाव जल्द ही भर जायेगा। और सूजन भी नहीं होने देगा।

ह्रदय की बीमारी लिए हल्दी

हल्दी के सेवन से शरीर का खून शुद्ध और पतला होता है। साथ में रक्त परिसंचरण (blood circulation) भी सही हो जाता है। जिससे ह्रदय की बीमारी का खतरा कम हो जाता है।

जुखाम के लिए हल्दी के फायदे

दूध या गरम पानी में हल्दी मिलाकर पीने से सर्दी, जुकाम, खांसी और बलगम जैसी समस्या से राहत दिलाता है।

हल्दी हड्डियां बनाए मजबूत

दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हमारी हड्डी मजबूत होती है। और रक्तसंचार सही हो जाता है। और हड्डी में दर्द की समस्या ख़तम हो जाती है।

नींद में सहायक हल्दी

यदि किसी तो हरदम तनाव बना रहता है। और अच्छे से नींद नहीं आती है तो वह सुबह एक ग्लास गरम पानी में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर सेवन करे तो इस समस्या से राहत मिल सकती है।

हल्दी वाला दूध के नुकसान

हल्दी वाला दूध के नुकसान- हल्दी वाला दूध पीने से हमारे शरीर को कई तरह के फायदे मिलते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं हल्दी वाला दूध के नुकसान भी कई हो सकते हैं। आइये जानते हैं की हल्दी वाला दूध पीने से क्या नुकसान होते हैं।

  • कुछ लोग को हल्दी से एलेर्जी भी होती है। ऐसे में उनको हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए नहीं तो उनके चेहरे पर लालिमा और धब्बे आ जाते है।
  • हल्दी की तासीर गर्म होती है इसलिए बवासीर के रोगियों को हल्दी वाला दूध से नुकसान हो सकता है।
  • इसमें खून को पतला करने वाला गुण होने के कारण हल्दी वाले दूध का सेवन नकसीर वाले रोगियों को नहीं करना चाहिए।
  • हल्दी के ज्यादा सेवन से गुर्दे की पथरी की समस्या हो सकती है। क्योंकि इसमें Oxalate भी होता है।
  • हल्दी के ज्यादा सेवन से एनीमिया होने का खतरा बना रहता है।
  • अगर पित्ताशय का मरीज हल्दी वाला दूध पीता है तो उसकी समस्या और बढ़ सकती है।
  • हल्दी के ज्यादा प्रयोग से आपको पेट की समस्या जैसे- गैस, उल्टी और दस्त हो सकता है।

FAQs: About benefits of Turmeric milk

हल्दी दूध कितने दिन पीना चाहिए?

हल्दी वाले दूध का सेवन रोजाना रात को सोने से पहले कर सकते हैं। इससे शरीर में कैल्सियम की कमी नहीं होगी। और कई सारी बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है।

क्या गर्मी में हल्दी वाला दूध पीना चाहिए?

हल्दी की तासीर गर्म होती है इसलिए अपने शरीर के अनुसार या अपने डॉक्टर की परामर्श से गर्मी के मौसम में इसका सेवन करना चाहिए।

ज्यादा हल्दी खाने से क्या नुकसान होता है?

हल्दी के ज्यादा प्रयोग से आपको पेट की समस्या जैसे- गैस, उल्टी और दस्त हो सकता है। हल्दी के ज्यादा सेवन से एनीमिया होने का खतरा बना रहता है।

दूध में हल्दी मिलाकर कैसे पीना चाहिए?

रोजाना रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में आधा या एक चम्मच शुद्ध हल्दी पाउडर मिलाकर पीने से कई रोगों से छुटकारा मिलता है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों हल्दी दूध के फायदे और नुकसान आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप हल्दी दूध के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: