Connect with us

Diet

करौंदा के फायदे और नुकसान | karonda fruit

Published

on

करौंदा के फायदे और नुकसान- karonda fruit – करौंदा एक फल है जो छोटे से गोल आकार का होता है। इसका रंग गुलाबी और गहरा लाल होता है। इसका स्वाद खट्टा और हल्का मीठा होता है।

घरों में करौंदे का प्रयोग चटनी, मुरब्बा, अचार और सब्जी बनाने में किया जाता है। करौंदे पकने के बाद काले रंग के हो जाते है। इन काले फल को कृष्णपाक फल के नाम से भी जाना जाता है।

करौंदा को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

करौंदा को इंग्लिश में Gooseberry कहते है। इसका वैज्ञानिक नाम Carissa carandas है।

करौंदा में कौन सा विटामिन होता है?

करौंदा में विटामिन-सी, प्रोटीन, फैट, कैलोरी, मिनरल, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फासफोरस, साइट्रिक एसिड जैसे पौष्टिक तत्व के साथ एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते है। करौंदा अपने स्वाद और औषधीय गुणों के कारण बहुत लोकप्रिय है।

करौंदे को उपयोग में लाये जाने वाले भाग

No. 1करौंदा का फल
No. 2करौंदे की जड़
No. 3करौंदे के फूल का चूर्ण (पाउडर)
No. 4करौंदा का पत्ता और उसका रस
No. 5करौंदे के पेड़ की जड़ से बना चूर्ण (पाउडर)
No. 6करौंदे के कच्चे फल को सूखाकर उसका चूर्ण (पाउडर)

करौंदा के फायदे – karonda fruit

करौंदा के फायदे निम्नलिखित रूप से हमें मिलते हैं क्योंकि करोंदे में विटामिन और पोषक तत्व होने के कारण इसे औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। करोंदा खाने से कई बीमारिया दूर हो सकती हैं।

करौंदा के फायदे

मधुमेह रोगियों के लिए करौंदा के फायदे

करौंदा (karonda) के फायदे मधुमेह रोगियों के लिए कुछ हद तक लाभकारी हो सकता है। इसमें ब्लड शुगर कम करने और मधुमेह के लक्षण से शरीर को राहत देने का गुण होता है। इसलिए कोई व्यक्ति जिसको ऐसी समस्या है वह करौंदे का सेवन करके इस बीमारी से थोड़ी राहत पा सकता है।

इम्यूनिटी के लिए करौंदा के फायदे

इम्यूनिटी के लिए करौंदा के फायदे निम्नलिखित रूप से हमें मिलते हैं क्योंकि करौंदा फाइटोकेमिकल्स और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। जिससे शरीर की रोग से लड़ने की क्षमता बढ़ने लगती है और इस तरह हमें मौसमी बीमारी जैसे- बुखार, खांसी, जुखाम और दस्त जल्दी नहीं होते है। करौंदा (karonda) इस तरह एक इम्युनिटी बूस्टर का काम करता है।

ट्यूमर और कैंसर को कम करे

करौंदे में सैलिसिलिक एसिड और पॉलीफेनोलिक यौगिक की मात्रा होती है। जिससे शरीर में होने वाले ट्यूमर और सूजन काफी हद तक रोकने में मदद करता है। इसके अलावा करौंदे में किमोप्रोटेक्टिव के साथ एंटीकैंसर का भी गुण होता है। जो कैंसर को बढ़ने और उसके विस्तार में रुकावट लाता है और इस तरह करौंदे (karonda) खाने वाले को कैंसर का खतरा कम हो जाता है

त्वचा के लिए करौंदा के फायदे

त्वचा के लिए करौंदा के फायदे निम्नलिखित रूप से मिलते हैं क्योंकि इसे खाने और इसका जूस पीने से त्वचा में आयी सिकुड़न खतम होने लगती है जिस कारण त्वचा में कसाव आने लगता है और हम जवान दिखने लगते है। इसके अलावा यह चेहरे पर हुए लाल दाने को भी खतम करता है। करौंदा (karonda) के फायदे त्वचा के लिए भी बहुत लाभदायक है।

गर्भावस्था में संक्रमण से सुरक्षा

जानकारों का यह मानना है की किसी भी गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान यूटीआई होने का खतरा बना रहता है। यूटीआई का कारण मूत्र पथ के कोशिकाओं पर रुके सूक्ष्मजीव होते है। करौंदे (karonda) के रस पीने से मूत्र पथ के कोशिकाओं रुके यह सूक्ष्मजीव पेशाब के साथ बाहर बह जाते है। और इस तरह से यूटीआई या मूत्र संक्रमण की समस्या से करौंदा राहत देता है।

वजन घटाने में करौंदा के फायदे

वजन घटाने में करौंदा के फायदे निम्नलिखित रूप से मिलते हैं क्योंकि करौंदे का प्रयोग वजन घटाने में किया जा सकता है। इसमें मौजूद फाइबर की वजह से बार-बार भूख नहीं लगती है और पेट भरा-भरा सा रहता है। करौंदे के रस पीने से शरीर का फैट कम होने लगता है और इस तरह हम अपना वजन नियंत्रित कर सकते है।

मुँह के स्वाथ्य के लिए करौंदा

करौंदे (karonda) के सेवन से मुँह की बदबू कम हो जाती है। दांतों में बैक्टीरिया जो कैविटी का कारण होते है यह उन बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है। इसके अलावा यह मसूड़ों में सूजन होने से बचाता है। और हमारे मुँह की समस्या को दूर रखता है।

करौंदे का अचार

करौंदा खाने के नुकसान

आइये जानते हैं कि करौंदा खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं।

  • करौंदे के प्रयोग से त्वचा की प्रतिक्रिया हो सकती है।
  • ज्यादा मात्रा में करौंदा खाने से पेट का पाचन बिगड़ सकता है।
  • ज्यादा खट्टी चीज खाने से हड्डियां कमजोर पड़ने लगती है। इसलिए हमेशा पका करौंदा खाने का प्रयास करे।
  • करौंदे के अत्यधिक सेवन से ऑक्सालेट स्टोन की समस्या हो सकती है।
  • एस्पिरिन से जिनको एलर्जी है वो लोग करौंदा खाने से बचे।
  • जो लोग करौंदे का बीज खाते है वो लोग भी इससे बचे।
  • ज्यादा मात्रा में करौंदा खाने से खून में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ सकती है।

FAQs: About karonda fruit

करौंदा खाने से क्या फायदा होता है?

करौंदा फाइटोकेमिकल्स और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। जिससे शरीर की रोग से लड़ने की क्षमता बढ़ने लगती है और इस तरह हमें मौसमी बीमारी जैसे- बुखार, खांसी, जुखाम और दस्त जल्दी नहीं होते है। करौंदा (karonda) इस तरह एक इम्युनिटी बूस्टर का काम करता है।

करोंदे कैसे होते हैं?

करौंदा एक फल है जो छोटे से गोल आकार का होता है। इसका रंग गुलाबी और गहरा लाल होता है। इसका स्वाद खट्टा और हल्का मीठा होता है।

करौंदा का वैज्ञानिक नाम क्या है?

करौंदा को इंग्लिश में Gooseberry कहते है। इसका वैज्ञानिक नाम Carissa carandas है।

करौंदा में कौन सा विटामिन होता है?

करौंदा में विटामिन-सी, प्रोटीन, फैट, कैलोरी, मिनरल, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फासफोरस, साइट्रिक एसिड जैसे पौष्टिक तत्व के साथ एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते है। करौंदा अपने स्वाद और औषधीय गुणों के कारण बहुत लोकप्रिय है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों करौंदा के फायदे और नुकसान | karonda fruit के बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप करौंदा के फायदे के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: