Connect with us

Ayurvedic

लौंग खाने के फायदे और नुकसान | laung khane ke fayde aur nuksan

Published

on

लौंग खाने के फायदे और नुकसान- लौंग (laung khane ke fayde aur nuksan) अपने अनेक लाभ के लिए बहुत प्रसिद्ध है लौंग के फायदे अनेक होते है। इसका प्रयोग मसाले और घरेलु उपचार में किया जाता है।

लौंग को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

लौंग को इंग्लिश में cloves कहते हैं और लौंग का वैज्ञानिक नाम सीजीजियम अरोमैटिकम (Syzygium aromaticum) होता है। लौंग का पेड़ (Myrtaceae ) परिवार का एक पेड़ होता है। जो हमेशा हरा-भरा रहता है। इसकी लम्बाई करीब 25 -30 फ़ीट तक होती है।

लौंग क्या है?

लौंग का पेड़ (Myrtaceae ) परिवार का एक पेड़ होता है। जो हमेशा हरा-भरा रहता है। इसकी लम्बाई करीब 20 -30 फ़ीट तक होती है। जिसके लाल और भूरे रंग के फूलों की कलियों को सूखा कर लौंग के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। लौंग का रंग काला और भूरा होता है और इसकी सुगंध भी काफी अच्छी होती है। यह छोटे से फूल की तरह नाखून के आकार का होता है। लौंग का प्रयोग मसाले के रूप में तथा घरेलू उपचार में किया जाता है इसका प्रयोग चाय बनाने में भी किया जाता है।

लौंग के पौष्टिक तत्व

लौंग में बहुत सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते है। जैसे यूजेनॉल (eugenol), मैंगनीज (Manganese), विटामिन K (Vitamin K), पोटैशियम (Potassium), बीटा कैरोटीन (Beta-carotene), आयरन (Iron), फास्फोरस (phosphorus), सोडियम (sodium) आदि।

लौंग खाने के फायदे – Laung khane ke fayde

लौंग खाने के फायदे हमारे शरीर के निम्नलिखित रूपों में प्राप्त होते हैं। लौंग को एक औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। आइये जानते हैं की लौंग खाने के फायदे और नुकसान क्या-क्या होते हैं और इसे किस बीमारी के लिए ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।

लौंग खाने के फायदे और नुकसान

सिर दर्द होने पर लौंग खाने के फायदे

सिर दर्द होने पर लौंग खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से मिलते हैं क्योंकि यदि कोई व्यक्ति जिसको सर दर्द की समस्या है वह लौंग की 4-5 कालिया को थोड़ा गर्म पानी के साथ पीसकर हल्का सूखा ले और फिर तैयार लेप को अपने माथे तथा गर्दन के आसपास लगा ले जिससे सर दर्द वाली समस्या से तुरंत आराम मिल जाता है।

खांसी होने पर लौंग खाने के फायदे

खांसी होने पर लौंग खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से मिलते हैं क्योंकि खांसी जैसी समस्या होने पर ४-५ लौंग की कलियों को कूट ले और उसे एक गिलास पानी में डालकर उबाले जब तक पानी आधा न हो जाये फिर उसके बाद उसे छानकर पी ले जिससे जमा हुआ बलग़म पिघल जाता है और खांसी से तुरंत आराम मिल जाता है।

हैजा होने पर लौंग खाने के फायदे

हैजा के मरीज को 1लीटर पानी में 5ग्राम लौंग को उबाल ले और प्यास लगाने पर वही पानी पिलाये जिससे मरीज की बीमारी 6-7 दिन में ठीक होने लगती है।

गले में खरास या दर्द होने पर

गले में खरास या सूजन या दर्द जैसी समस्या होने पर 1 गिलास गर्म पानी में एक छोटी चम्मच लौंग का पाउडर मिलाकर कुल्ला (गरारा) करने से उचित लाभ मिलता है।

कान में दर्द होने पर लौंग के फायदे

कान में दर्द या संक्रमण होने पर लौंग का तेल की २-२ बुँदे कान में डालने से कान का दर्द कम हो जाता है।

दांतो के लिए लौंग के फायदे

दांतों में दर्द या कीड़े लगने जैसी समस्या होने पर लौंग के तेल को रुई की कली की सहायता से अपने दातों पर लगाए जिससे दांत का दर्द कम हो जाता है और कीड़े वाली समस्या भी धीरे धीरे ठीक हो जाती है। लौंग का पाउडर दांतो पर लगाने से मुँह की बदबू खत्म हो जाती है।

आँखों के लिए लौंग के फायदे

आँखों में खुजली जैसी समस्या होने पर लौंग को शहद के साथ पीसकर आँखों में काजल की तरह लगाने से इस समस्या से राहत मिलती है।

हड्डी के लिए लौंग के फायदे

हड्डियों की समस्या के लिए लौंग का तेल बहुत फायदेमंद होता है। लौंग का तेल हड्डी पर मालिश करने से हड्डी का दर्द दूर हो जाता है।

मांसपेशियों के लिए लौंग के फायदे

अगर किसी की मांसपेशियों में पुराना दर्द हो तो वह 5 ग्राम हल्दी में 4-5 नग लौंग को पीसकर मिला ले और तैयार लेप को उस दर्द वाली जगह पर लगाए तो उसका दर्द धीरे-धीरे ठीक जाता है। और यदि मांसपेशियों में कही सूजन है तो उस जगह पर लौंग का तेल मालिश करने से सूजन ख़तम हो जाता है।

लौंग खाने के नुकसान

अगर इसके इस्तेमाल सही तरीके से न किया जाये तो लौंग खाने के फायदे और नुकसान दोनों ही हो सकते हैं लेकिन निचे कुछ सावधानी बताई गई है जिससे की आपको लौंग खाने के नुकसान से बच सकते हैं।

  • लौंग के उपयोग से रक्त शर्करा (blood sugar) का स्तर (level) कम हो जाता है यदि आपका रक्त शर्करा स्तर पहले से ही कम है तो बेहतर यही होगा की आप लौंग का सेवन करने से बचे।
  • गर्भवती महिला को लौंग के प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • लौंग के अत्यधिक प्रयोग से त्वचा रोग, आंख में जलन और यकृत को नुकसान पहुंचाने वाली जैसी बीमारिया हो सकती है।
  • टेस्टोस्टेरोन हार्मोन जो की पुरुषों में पाया जाता है। लौंग के अधिक प्रयोग से ये हार्मोन कम होने लगता है।
  • एक दिन में सिर्फ 4-5 लौंग की कलियाँ से ज्यादा का सेवन नहीं करना चाहिए।

लौंग का तेल कैसे बनाये?

सबसे पहले एक चम्मच लौंग को कूटकर उसका पाउडर बना ले और फिर उसको 100ML अपने मन पसंद के तेल (सरसों, नारियल या जैतून) के साथ मिला ले और उसको किसी कांच की बोतल में भर ले फिर उसके बाद उस बोतल को भाँप की सहायता से 10-15 मिनट तक गरम करें फिर बोतल में से तेल को निकालकर किसी साफ़ कपडे की सहायता से छान ले और इस तरह आपका लौंग का तेल तैयार हो जाता है।

FAQs: About cloves

एक दिन में कितना लौंग खाना चाहिए?

एक दिन में सिर्फ 4-5 लौंग की कलियाँ से ज्यादा का सेवन नहीं करना चाहिए।

लौंग खाने से नुकसान क्या होता है?

लौंग के उपयोग से रक्त शर्करा (blood sugar) का स्तर (level) कम हो जाता है यदि आपका रक्त शर्करा स्तर पहले से ही कम है तो बेहतर यही होगा की आप लौंग का सेवन करने से बचे।

रात को सोते समय लौंग खाने से क्या होता है?

दांतों में दर्द या कीड़े लगने जैसी समस्या होने पर लौंग के तेल को रुई की कली की सहायता से अपने दातों पर लगाए जिससे दांत का दर्द कम हो जाता है और कीड़े वाली समस्या भी धीरे धीरे ठीक हो जाती है। लौंग का पाउडर दांतो पर लगाने से मुँह की बदबू खत्म हो जाती है।

लौंग खाने से क्या फायदे?

अगर किसी की मांसपेशियों में पुराना दर्द हो तो वह 5 ग्राम हल्दी में 4-5 नग लौंग को पीसकर मिला ले और तैयार लेप को उस दर्द वाली जगह पर लगाए तो उसका दर्द धीरे-धीरे ठीक जाता है। और यदि मांसपेशियों में कही सूजन है तो उस जगह पर लौंग का तेल मालिश करने से सूजन ख़तम हो जाता है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों लौंग खाने के फायदे और नुकसान | laung khane ke fayde aur nuksan के बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप लौंग खाने के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: