Connect with us

Home remedies

पंच तुलसी के फायदे | panch tulsi ke fayde aur nuksan

Published

on

पंच तुलसी के फायदे- तुलसी का अर्थ होता है अनोखा, मतलब इसकी तुलना किसी से भी नहीं की जा सकती और इसलिए इसको तुलसी कहा जाता है। क्योंकि पूरे आयुर्वेद में ऐसी कोई औषधि है ही नहीं जो किसी भी मामले में कोई भी तरीके से तुलसी के फायदे की बराबरी कर सकें।

Table of Contents

पंच तुलसी क्या है?

भारतीय औषधि में तुलसी का बहुत ही उच्च स्थान है हिंदू धर्म के अनुसार इसकी पूजा भी की जाती है लोग इसका पौधा अपने घर के आगे लगाते हैं और वैज्ञानिक रूप से भी तुलसी को बहुत बड़ा स्थान दिया गया है। तुलसी की तासीर गर्म होती है यह लगभग हर बीमारी में सहायक होती है जैसे मौसम से होने वाली बीमारियां तथा अन्य बीमारियों के लिए बहुत ही गुणकारी होती है।

तुलसी वैदिक काल से ही प्रयोग में लाई जाने वाली प्रसिद्ध औषधि है। इसकी पत्तियों का चाय बनाया जाता है तथा पतियों को सुखाकर चूर्ण बनाया जाता है और इसकी बीजो को भी इस्तेमाल किया जाता है मतलब जैसी बीमारी होती है उस हिसाब से इसका प्रयोग किया जाता है आइए एक-एक करके इसके बारे में जाने।

पंच तुलसी के फायदे – panch tulsi ke fayde

पंच तुलसी के फायदे हमारे शरीर को निम्नलिखित रूपों में मिलते हैं क्योंकि इस एक औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है आइये जानते हैं पंच तुलसी के औषधीय गुणों के बारे में।

पंच तुलसी के फायदे

तुलसी के फायदे तो बहूत सारे हैं लेकिन तुलसी का सही तरीके से उपयोग ना करने पर हमारे शरीर पर नुकसान भी हो सकता है। इसलिए इसलेख में तुलसी से होने वाले फायदे और नुकसान दोनों के बारे में बताया गया है इसलिए इस लेख tulsi ke fayde को ध्यान से पढ़े

तुलसी के प्रकार-Types of Holi Basil

वैसे तो तुलसी के कई प्रकार होते हैं मगर उनमें से कुछ मुख्य प्रकार है जो निम्नलिखित है।

1. रामा तुलसी-Rama Holi Basil

रामा तुलसी

रामा तुलसी तुलसी की पत्तियां हरे रंग की होती है और इसमें यूजिनॉल भी पाया जाता है इसके फूल हल्के बैगनी रंग के होते हैं और इसकी खुशबू लौंग जैसी होती है

2. कृष्णा तुलसी या श्यामा तुलसी- Krishna Holi Basil

श्यामा तुलसी

इस प्रकार की तुलसी के पत्तों का रंग हल्का काला या बैंगनी या थोड़ा सा जामुनी रंग लिए हुए होती हैं और इसका स्वाद तीखा होता है कृष्णा तुलसी का उपयोग दिमाग से सम्बंधित समस्या के लिए होता है इसमें रोज़मारिनिक एसिड 10.47mg तक पाया जाता है

3. वन तुलसी-Vana Holi Basil

वन तुलसी

वन तुलसी की पत्तियां का रंग हल्का हरा होता है और इसका स्वाद और खुसबू बाकी तुलसी जैसा होता है वन तुलसी का उपयोग इन्फेक्शन से बचने के लिए होता है और इसमें यूजिनॉल 8.89mg/g पाया जाता है

पंच तुलसी के फायदे और नुकसान

पंच तुलसी के फायदे- पंच तुलसी के इस्तेमाल से हमें कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है। यह आयुर्वेद में सबसे उत्तम औषधि के रूप में इस्तेमाल की जाती है। आइये जानते हैं की पंच तुलसी के इस्तेमाल से कौन-कौन सी बिमारियों से छुटकारा मिल सकता है।

पेट से संबंधित समस्या के लिए

अगर आपको एसिडिटी होती है तो ऐसे में आपको पेट दर्द, कच्ची डकार और बेचैनी जैसी समस्या होने लगती है तब आप तुलसी का काढ़ा बनाकर उसका सेवन करिए जिससे आपके शरीर में जमा टॉक्सिन्स बाहर निकल जाता है और पेट में एंजाइम्स बनाना तेज हो जाता है और एसिडिटी धीरे धीरे ख़तम हो जाती है।

मुँह से संबंधित समस्या के लिए

पंच तुलसी के फायदे- मुंह में छाले होना, सांसो में बदबू होना, दांतों का सड़ना जैसी समस्याओं के लिए वन तुलसी के पत्तों को छाया में सुखाकर उसका पाउडर बना लें और तैयार पाउडर में से 1 ग्राम पाउडर लेकर उसमें 1 ग्राम सरसों का तेल मिला लें और इससे सुबह दांत साफ करें और यह परेशानियां खत्म हो जाएंगी।

चेहरे से संबंधित समस्या के लिए

पंच तुलसी के फायदे- दो चम्मच नींबू का रस और दो चम्मच तुलसी के पत्तों का रस मिला लें और इसे धूप में सूखने दें और गाढ़ा होने पर तैयार लेप को नियमित रूप से अपने चेहरे पर लगाएं। जिससे आपके चेहरे पर काले धब्बे कील मुंहासे इत्यादि ठीक हो जाते हैं। चेहरे पर फोड़ा-फुंसी इत्यादि होने पर तुलसी के पत्तों का लेप लगाने से सही हो जाता है।

panch tulsi

कान से संबंधित समस्या के लिए

पंच तुलसी के फायदे- कपूर का चूर्ण तथा तुलसी की पत्तियों का रस एक साथ मिलाकर हल्का गर्म करके उसको कान में डालने से कान दर्द, कान बहना या बहरेपन जैसी संबंधित समस्याओं से राहत मिलती है।

दिमाग से संबंधित समस्या के लिए

पंच तुलसी के फायदे- यदि आपको दिमागी तनाव तथा जी मचलाना या किसी चीज में मन ना लगना जैसी समस्या है तो आप तुलसी के काढ़ा का सेवन सुबह और शाम चाय की जगह पर करें जिससे आपको गहरी नींद आएगी और जब आप सो के जगेंगे तब आप बिल्कुल तरोताजा महसूस करेंगे।

हड्डी से संबंधित समस्या के लिए

पंच तुलसी के फायदे- तुलसी का काढ़ा बनाकर इसमें थोड़ा नमक मिलाकर इसे चाय की तरह पीने से कमर में दर्द या हड्डी जैसी समस्या से राहत मिलता है।

नाक से संबंधित समस्या के लिए

बंद नाक, सर्दी जुकाम, खांसी जैसी समस्या होने पर तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर चाय की तरह पीने से आराम मिलता है तथा इसकी पत्तियों को मसलकर सूंघने से बंद नाक को आराम मिलता है। तुलसी के पत्तों के रस का 5-6 बूंद तथा अदरक के रस का 5-6 बूंद शहद के साथ मिलकर एक पेस्ट बना ले और इसको छोटे बच्चों में जुकाम हेने पर चटाएं।

आँख से संबंधित समस्या के लिए

तुलसी के फायदे आँखों के लिये तुलसी के रस को काजल की तरह आंखों में लगाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। तथा तुलसी के पत्तों के रस की दो-दो बूंदे आंखों में एक सप्ताह तक डालने से आंखों की समस्या जैसे खुजली, जलन और रतौंधी से भी राहत मिलता है।

रोग प्रतिरोधक शक्ति में सहायक

पंच तुलसी के फायदे- तुलसी के साधारण काढ़ा बनाते समय अगर हम उसमे थोड़ी हल्दी, काली-मिर्ची तथा निम्बू का रस मिलाकर बनाये तथा उस तैयार काढ़े का सेवन चाय की तरह करें तो हम अपना रोग प्रतिरोधक छमता बड़ा सकते है।

वातावरण शुद्धिकरण में सहायक

घर के बाहर तुलसी के पौधे को लगाने का एक और भी बड़ा फायदा यह है कि इसकी खुशबू से आसपास के मच्छर और छोटे-छोटे कीड़े दूर रहते हैं तुलसी के पौधे के पास में योगा करने से हमें बहुत ही लाभ मिलता है इसकी खुशबू हमारी सांसों के द्वारा अंदर जाती है और हमारे शरीर को शुद्ध करते हैं।

तुलसी के उपयोग से होने वाले नुकसान

दवाई के रूप में तुलसी के तेल का उपयोग लंबे समय से किया जा रहा हो तब यह दवाई लेने वाले व्यक्ती को नुकसान पंहुचा सकता है क्योंकि इसमें एस्ट्रैगोल होता है। जो लोग रक्त पतला करने वाली दवाओं ले रहे हैं उन्हें तुलसी तेल या अर्क का उपयोग करने से पहले अपने स्वास्थ्य सेवा केंद्र पर बात करनी चाहिए। अगर आपको पेट में जलन जैसी समस्या है तो तुलसी के पत्तों का प्रयोग करने से बचें क्योंकि इससे पेट की गर्मी और बढ़ती है।

पंच तुलसी के सेवन का सही तरीका

पंच तुलसी के फायदे- काढ़ा या चाय तुलसी के पत्तों का बनाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप एक गिलास पानी में तुलसी के चार-पांच पत्ते डाल दे और उसको तब तक उबालें जब तक गिलास का पानी आधा ना हो जाए फिर उसका उपयोग करें जिससे आपको अच्छा लाभ मिलता है।

तुलसी के पौधे का सही तरीके से देखभाल करने का तरीका

तुलसी का पौधा गहरे गमले में लगाना चाहिए अगर आपके तुलसी के पौधे में कीड़े जैसी समस्या आती है तो आप उसमें नीम का तेल का छिड़काव कर सकते हैं। सर्दी के मौसम में तुलसी के पौधों में ज्यादा पानी नहीं देना चाहिए।

जिस गमले में आप तुलसी का पौधा लगा रहे हैं उसकी मिट्टी में थोड़ा सा रेत मिला दे जिससे कि उसमें पानी ज्यादा देर न टिक पाए क्योकि तुलसी का पौधा ज्यादा पानी देने से भी ख़राब हो जाता है। तुलसी के पौधे को हरा-भरा रखने के लिए उसके गमले की मिट्टी में आप गाय के गोबर की खाद भी मिला सकते हैं।

FAQs: Basil

तुलसी के पत्ते खाने से क्या नुकसान होता है?

अगर आपको पेट में जलन जैसी समस्या है तो तुलसी के पत्तों का प्रयोग करने से बचें क्योंकि इससे पेट की गर्मी और बढ़ती है।

क्या तुलसी गर्म होती है?

तुलसी की तासीर गर्म होती है यह लगभग हर बीमारी में सहायक होती है जैसे मौसम से होने वाली बीमारियां तथा अन्य बीमारियों के लिए बहुत ही गुणकारी होती है।

पंच तुलसी के क्या क्या फायदे हैं?

अगर आपको एसिडिटी होती है तो ऐसे में आपको पेट दर्द, कच्ची डकार और बेचैनी जैसी समस्या होने लगती है तब आप तुलसी का काढ़ा बनाकर उसका सेवन करिए जिससे आपके शरीर में जमा टॉक्सिन्स बाहर निकल जाता है और पेट में एंजाइम्स बनाना तेज हो जाता है और एसिडिटी धीरे धीरे ख़तम हो जाती है।

पंच तुलसी क्या है?

भारतीय औषधि में तुलसी का बहुत ही उच्च स्थान है हिंदू धर्म के अनुसार इसकी पूजा भी की जाती है लोग इसका पौधा अपने घर के आगे लगाते हैं और वैज्ञानिक रूप से भी तुलसी को बहुत बड़ा स्थान दिया गया है। तुलसी की तासीर गर्म होती है यह लगभग हर बीमारी में सहायक होती है जैसे मौसम से होने वाली बीमारियां तथा अन्य बीमारियों के लिए बहुत ही गुणकारी होती है।

तुलसी का प्रयोग कैसे करें?

तुलसी के साधारण काढ़ा बनाते समय अगर हम उसमे थोड़ी हल्दी, काली-मिर्ची तथा निम्बू का रस मिलाकर बनाये तथा उस तैयार काढ़े का सेवन चाय की तरह करें तो हम अपना रोग प्रतिरोधक छमता बड़ा सकते है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों पंच तुलसी के फायदे | panch tulsi ke fayde aur nuksan के बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप पंच तुलसी के फायदे के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: