Connect with us

Ayurvedic

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि क्या है?

Published

on

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि क्या है? और जानिए इसके फायदे। कोरोना के रोगियों के लिए कोरोनिल पतंजलि ने दिव्य श्वासारि कोरोनिल किट नाम से आयुर्वेदिक दवा बनाई है। पतंजलि का दावा है की यह कोरोना के रोगियों के लिए बहुत ही बेहतर आयुर्वेदिक दवा है अगर इसका सेवन कोरोना रोगी 7 दिन तक करते हैं तो उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव हो सकती है। क्या है दिव्य श्वासारि कोरोनिल किट का सच जानते हैं इस लेख में।

दिव्य श्वासारि कोरोनिल पतंजलि किट क्या है

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि
पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि

पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के सैकड़ों वैज्ञानिकों ने बहुत रिसर्च करके क्लिनिकल केस स्टडी तथा रेंडमाइज्ड प्लेसिबो कंट्रोल्ड क्लिनिकल ट्रायल करके, औषधि अनुसन्धान के सभी प्रोटोकाल्स का अनुपालन करते हुए कोरोना के रोगियों के आरोग्य के लिए कोरोनिल पतंजलि किट आयुर्वेदिक औषधि की खोज की है।

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि– इसमें दिव्य श्वासारि वटी, पतंजलि गिलोय घनवटी, पतंजलि तुलसी घनवटी एवं पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल की उचित मात्राओं तथा दिव्य अणु तेल के प्रयोग से कोरोना रोगियों में प्रतिरक्षा छमता की वृद्धि तथा कोरोना पॉजिटिव एसिम्पटोमैटिक माइल्ड एवं मोडरेट रोगी 3 से 7 दिन में नेगेटिव हो गये। यह दावा पतंजलि ने किया है।

इन औषधियों पर की गयी क्लिनिकल कन्ट्रोल ट्रायल व अन्य साइंटिफिक रिसर्च के सन्दर्भ में इंटरनेशनल रिसर्च जर्नल्स में पब्लिकेशन की प्रक्रिया अभी चल रही है। पतंजलि रिसर्च इंस्टिट्यूट की वेबसाइट ( https://www.patanjaliresearchinstitute.com/ ) पर इन सभी अनुसंधानों को विस्तार से जान सकेंगे।

दिव्य श्वासारि कोरोनिल पतंजलि किट कैसे काम करती है

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि- दिव्य श्वासारि कोरोनिल पतंजलि किट के बारे में बाबा रामदेव का दावा है की यह औषधी मनुष्य के फेफड़ों से लेकर पूरे शरीर की इम्युनिटी को प्रभावी रूप से बूस्ट करती है तथा कोरोना के संक्रमण की चेन को तोड़ती है।

कोरोना वायरस शरीर में प्रवेश करके फेफड़ों की बेसिक यूनिट एल्वियोलाई (Alveoli) को हाईजैक करते हुए उनकी अन्तः कार्यप्रणाली को बाधित करने की चेस्टा करता है और साइटोकाइन्स (Cytokines) का तूफान खड़ा करके सैकड़ों व लाखों की संख्या में अपने जैसी अनेक डुप्लिकेट कॉपी तैयार करने लगता है।

ये औषधियां इस प्रक्रिया को बाधित करती हैं, साथ ही शरीर की फाइटर इम्यून सेल्स को बढ़ाकर कोरोना वायरस के संक्रमण को अत्यंत प्रभावी ढंग से नियंत्रित करती है।

बाबा रामदेव के अनुसार– कोरोना के कारण होने वाली कॉम्प्लीकेशन्स (complications) तथा सिम्पटम्स (symptoms) पर भी ये औषधियां प्रभावी असर करती हैं ,जैसे – एलर्जी, जुकाम, बुखार, निमोनिया, शरीर दर्द, श्वास लेने में तकलीफ होना आदि। ये औषधियाँ श्वसन तंत्र, प्रतीक्षा तंत्र से लेकर पूरे शरीर की ऊर्जा को संतुलित एवं जाग्रत करती हैं।

ऋषियों के ज्ञान व तप, श्रद्धेय योगऋषि स्वामी रामदेव जी तथा आयुर्वेद मनीषी पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी के दिव्य मार्गदर्शन , पतंजलि अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिको के पुरुषार्थ से यह सफल अनुसंधान संभव हो पाया है।

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि क्या है आइये जानते हैं इसके बारे में जो पतंजलि ने बताया है।

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि– दिव्य श्वासारि वटी

दिव्य श्वासारि वटी को खाना खाने से आधा घण्टा पहले 2-2 गोलियां दिन में तीन बार गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि– दिव्य कोरोनिल टैबलेट

दिव्य कोरोनिल टैबलेट को खाना खाने के आधा घण्टा बाद 2-2 गोलियां दिन में तीन बार गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।

पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि– दिव्य अणु तेल

दिव्य अणु तेल को रोजाना खाना खाने से एक घण्टा पहले दोनों नासिकाओं में 4 – 4 बूंद डाल सकते हैं।

चेतावनी:- यह सेवन विधि 15 से 80 वर्ष आयु वाले के लिए है। 15 वर्ष वाले आयु से निचे वाले बच्चों को उपरोक्त वर्णित औषधि की आधी मात्रा प्रयोग कर सकते हैं। या अपने डॉक्टर की सलाह अवस्य ले लेना चाहिये।

इस लेख के जरिए हमने आपकों पतंजलि कोरोनिल सेवन विधि क्या है? इसके बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप इसके बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: