Connect with us

Home remedies

राजमा खाने के फायदे और नुकसान | kidney beans

Published

on

राजमा खाने के फायदे और नुकसान- kidney beans – राजमा एक प्रकार की फली होती है जो मनुष्य के किडनी जैसी दिखती है। इससे कई तरह के व्यंजन बनाये जाते है उनमें से एक प्रसिद्ध व्यंजन राजमा चावल है। राजमा खाने में चिकना होता है और इसकी सुगंध ड्राई फ्रूट्स जैसी होती है।

राजमा को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

राजमा को इंग्लिश में रेड किडनी बीन्स या किडनी बीन्स (kidney beans) कहते हैं। और इसका वैज्ञानिक नाम फैजियोलस वल्गेरिस (Phaseolus vulgaris) है।

राजमा में कौन कौन से तत्व होते हैं?

राजमा में ऊर्जा, वसा, विटामिन, प्रोटीन, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, कैल्शियम, मोलिब्डेनम, फाइबर, कोलिन और फोलेट जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते है। राजमा में लगभग 25% प्रोटीन पाया जाता है। राजमा अपने गुणों और स्वाद के कारण बहुत प्रसिद्ध है। राजमा कई प्रकार के होते है। हम इस लेख में उनके प्रकार और उनसे होने वाले लाभ के बारे में जानेंगे।

राजमा कितने प्रकार का होता है?

राजमा खाने में स्वादिष्ट होने के कारण इसके अलग-अलग व्यंजन बनाये जाते हैं। इसी तरह से राजमा के कई प्रकार भी होते हैं। आइये जानते हैं की राजमा के कितने प्रकार होते हैं।

  • नेवी बीन्स (Navy beans)
  • काला राजमा (Black beans)
  • ग्रेट नॉर्दर्न बीन्स (Great northern beans)
  • गहरा लाल राजमा (Dark red beans)
  • हल्का लाल राजमा (Light red beans)
  • पिंटो राजमा (Pinto kidney beans)
  • गुलाबी राजमा (Pink beans)

राजमा खाने के फायदे – Rajma

राजमा में बहुत सारे पौष्टिक तत्व होने के कारण राजमा खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से हमारे शरीर को मिलते हैं। आइये जानते हैं की राजमा के इस्तेमाल से कौन-कौन सी बीमारियों से हमें राहत मिलती है।

राजमा खाने के फायदे

वजन कम करने में राजमा खाने के फायदे

वजन कम करने में राजमा खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से हमारे शरीर को मिलते हैं क्योंकि राजमा में मौजूद फाइबर से पेट का पाचन सही रहता है और इसमें कम मात्रा में कैलोरी होता है जो वजन को नियंत्रित करता है। राजमा खाने से पेट भरा-भरा सा रहता है और बेवजह बार-बार भूख नहीं लगने देता है। राजमा के सेवन से हम अपना वजन प्राकृतिक तरीके से कम कर सकते है।

शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए राजमा के फायदे

शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए राजमा खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से हमारे शरीर को मिलते हैं क्योंकि राजमा खाने से हमारे शरीर को सभी प्रकार के विटामिन्स और मिनिरल मिलते है। जिससे शरीर को मौसम की वजह से होने वाली छोटी बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है। राजमा (rajma) एक तरीके से शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने का कार्य करता है इस वजह से मौसमी बीमारी सर्दी, जुखाम, खाँसी इत्यादि जल्दी नहीं होते है।

हड्डियों को मजबूत बनाये राजमा

बढती उम्र के कारण शरीर की हड्डियां कमजोर होने लगती है ऐसा कैल्शियम की कमी के कारण होता है। कैल्शियम की कमी से दाँत भी पीले और कमजोर हो जाते है। राजमा में कैल्शियम मौजूद होता है इसलिए राजमा खाने से हड्डी सम्बंधित बीमारी दूर होने लगती है।

दिमाग के लिए राजमा खाने के फायदे

दिमाग के लिए राजमा खाने के फायदे निम्नलिखित रूप से मिलते हैं क्योंकि राजमा के सेवन से दिमाग सम्बंधित बीमारियां कम होने लगती है। राजमा में विटामिन बी होता है जिससे दिमाग की भूलने की बीमारी दूर होती है और याददाश्त मजबूत हो जाती है। राजमा तंत्रिका तंत्र को भी नियंत्रित करता है।

कोलेस्ट्रॉल घटाये राजमा

राजमा खाने से रक्त पतला होता है। मतलब यह की रक्त में मौजूद वसा (फैट) कम होने लगता है जिससे रक्त संचार सही हो जाता है। कोलेस्ट्रॉल की वजह से ही रक्त संचार में दिक्कत आती है जो राजमा खाने से ठीक हो जाती है और यह अच्छे कोलेस्ट्रॉल को प्रभावित नहीं करती है।

राजमा खाने के नुकसान

राजमा खाने के नुकसान बहुत कम ही देखने को मिलते हैं लेकिन राजमा का सेवन सीमित मात्रा में करने से इसका कोई नुकसान नहीं होता है। आइये जानते हैं राजमा खाने से हमारे शरीर को क्या नुकसान होते हैं।

  • राजमा के अत्यधिक प्रयोग से शरीर में आयरन की अधिकता हो जाती है जिससे ह्रदय घात हो सकता है।
  • राजमा के ज्यादा खाने से बच्चों की तबियत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।
  • राजमा के अधिक प्रयोग से बचने के लिए आप राजमा को 1 हफ्ते में 6-7 बार स्वयं और अपने बच्चों को 3-4 बार ही खिलाये।
  • राजमा का स्वाद बहुत ही बढ़िया होता है इसलिए लोग इसका उपयोग जरूरत से ज्यादा ही करने लगते है जिससे उनको पेट दर्द की समस्या होने लगती है।

पंजाबी स्टाइल राजमा मसाला

FAQs: About Red kidney beans

राजमा खाने से क्या फायदा होता है?

राजमा खाने से हमारे शरीर को सभी प्रकार के विटामिन्स और मिनिरल मिलते है। जिससे शरीर को मौसम की वजह से होने वाली छोटी बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है। राजमा (rajma) एक तरीके से शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने का कार्य करता है इस वजह से मौसमी बीमारी सर्दी, जुखाम, खाँसी इत्यादि जल्दी नहीं होते है।

राजमा में कितना पर्सेंट प्रोटीन होता है?

राजमा में लगभग 25% प्रोटीन पाया जाता है।

राजमा खाने से क्या नुकसान होता है?

राजमा के अत्यधिक प्रयोग से शरीर में आयरन की अधिकता हो जाती है जिससे ह्रदय घात हो सकता है।

राजमा कितनी देर भिगोए?

राजमा को पानी में भिगोकर रातभर के लिए छोड़ दे फिर सुबह पानी छानकर उसकी सब्जी बनाये।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: