Connect with us

Diet

शकरकंद कैसे खाएं? | शकरकंद खाने के फायदे और नुकसान

Published

on

शकरकंद कैसे खाएं?- शकरकंद खाने के फायदे और नुकसान – शकरकंद (Shakarkand) यानी कन्ना जिसको उपवास में फलाहार के रूप में प्रयोग किया जाता है। शकरकंद कोई फल नहीं होता है। बल्कि एक प्रकार से कंद मूल सब्जी होता है। इसका स्वाद मीठा होता है और यह आलू से काफी हद तक मिलता है।

इसका कोई निश्चित आकार नहीं है। इसका रंग भूरा और हल्का गुलाबी होता है। इसके अंदर का खाने वाला भाग बिल्कुल आलू के रंग जैसा होता है।

Table of Contents

शकरकंद को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

शकरकंद को इंग्लिश में Sweet potato कहते है। और इसका वैज्ञानिक नाम Ipomoea batatas है।

शकरकंद में कौन सा तत्व पाया जाता है?

शकरकंद में ऊर्जा, विटामिन, प्रोटीन, शुगर, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, कैल्शियम, फाइबर, ज़िंक, कॉपर, फोलेट जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते है। शकरकंद शरीर के स्वाथ्य के लिए बहुत उपयोगी होता है इसके अलावा इसमें कई सारे औषधीय गुण होते है।

शकरकंद कैसे खाएं? और शकरकंद खाने के फायदे

आइये जानते हैं शकरकंद कैसे खाएं? और शकरकंद खाने के फायदे हमारे शरीर को कैसे मिलते हैं।

शकरकंद-खाने-के-फायदे

कैंसर के लिए शकरकंद कैसे खाएं?

शकरकंद (Shakarkand) के प्रयोग करने से शरीर में कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। क्योकि इसमें कैंसर विरोधी गुण होता है। शकरकंद खाने से हमारे शरीर में कैंसर कोशिकाओं का विस्तार नहीं हो पाता है। और इस तरह हमें कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है।

हड्डियों के लिए शकरकंद खाने के फायदे

आप सभी को पता होगा की शरीर में कैल्शियम की कमी से हड्डियाँ कमजोर होती है। शकरकंद में पोटैशियम के अलावा कैल्शियम मौजूद होता है इसलिए इसको खाने से शरीर की हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसके अलावा यह हड्डियों के विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है। शकरकंद जोड़ो के दर्द से भी राहत दिलाता है।

इम्युनिटी बढ़ाये शकरकंद कैसे खाएं?

इम्युनिटी बढ़ाये शकरकंद कैसे खाएं?– शकरकंद खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने लगती है। जिस किसी का इम्युनिटी यानि रोग से लड़ने की क्षमता कम होती है। उन लोगों को कमजोरी और थकान महसूस होता है। और मौसम बदलते ही सर्दी, जुखाम, खांसी और बुखार जैसी समस्या हो जाती है। शकरकंद (Shakarkand) का प्रयोग करके वे लोग अपने शरीर की इम्युनिटी मजबूत कर सकते है और इन सभी समस्याओं से राहत पा सकते है।

दिमाग की समस्या के लिए शकरकंद के फायदे

शकरकंद का प्रयोग हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह दिमाग की सीखने की क्षमता और याददाश्त को मजबूत बनाने में मदद करता है। शकरकंद दिमाग की कार्य क्षमता को बढ़ाने और इससे सम्बंधित बीमारी को दूर करने में सहायक साबित हो सकता है।

ह्रदय के लिए शकरकंद के फायदे

शकरकंद ह्रदय के स्वाथ्य और देखभाल के लिए एक अच्छा विकल्प है। शकरकंद एंटीऑक्सीडेंट के गुण के अलावा विटामिन्स और खनिज पदार्थो का श्रोत होता है। इसलिए इसके सेवन से खून पतला और ह्रदय की गति नियंत्रित होने लगती है। शकरकंद के उपयोग से ह्रदय सम्बंधित बीमारी से बचा जा सकता है।

आँखों के लिए शकरकंद खाने के फायदे

शकरकंद एक पौष्टिक आहार होता है इसलिए इसका सेवन व्रत में किया जाता है। यह शरीर को कमजोरी से बचाता है। शकरकंद (Shakarkand) आँखों के स्वाथ्य के लिए एक अच्छा खाद्य पदार्थ है। यह आँखों को हानिकारक किरणों से बचाता है। इसमें मौजूद विटामिन्स आँखों की देखभाल के लिए एक अच्छा श्रोत हो सकता है।

बालों के लिए शकरकंद के फायदे

शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण बालों की जड़ें कमजोर होती है। जिस वजह से बाल झड़ने की समस्या होने लगती है। शकरकंद बालों के लिए उपयोगी साबित हो सकता है। इसके उपयोग से बालों की जड़े मजबूत होती है और बाल झड़ने की समस्या कम होती है। शकरकंद में मौजूद पौष्टिक तत्व बालों के विकास के लिए बहुत सहायक होते है।

त्वचा के लिए शकरकंद कैसे खाएं?

पेट के पाचन के लिए शकरकंद कैसे खाएं?– शकरकंद का सेवन त्वचा के लिए बहुत फायदा करता है। शकरकंद में मौजूद विटामिन्स और खनिज की वजह से त्वचा की झुर्रिया कम हो जाती है। और इसमें जेंथोफाइल्स नामक एक घटक होता है जिससे हमारी त्वचा को हानिकारक किरणों से होने वाले नुकसान की संभावना कम हो जाती है।

वजन घटाने के लिए शकरकंद के फायदे

मोटापे और वजन बढ़ने का मुख्य कारण है, स्वाद के लिए बाहरी खाने को अनियमित रूप से खाना। जिसके कारण कई प्रकार की बीमारी होने लगती है। मोटापा को कम करने के लिए लोग व्यायाम करने के साथ पौष्टिक भोजन करते है। शकरकंद (Shakarkand) में एंटी ऑबेसिटी का गुण होता है और यह एक पौष्टिक भोजन होता है। जिसके प्रयोग से वजन को नियंत्रित किया जा सकता है।

गर्भवती महिला के लिए शकरकंद

शकरकंद (Shakarkand) का सेवन गर्भवती महिला के लिए एक उत्तम और पौष्टिक भोजन होता है। इसमें विटामिन-A की अधिकता होती है जिससे आँखों और शरीर को बहुत फायदा मिलता है। शकरकंद का प्रयोग एक निश्चित मात्रा में करने से यह शरीर के स्वाथ्य के लिए बेहतर माध्यम हो सकता है।

पेट के पाचन के लिए शकरकंद कैसे खाएं?

पेट के पाचन के लिए शकरकंद कैसे खाएं?- शकरकंद का उपयोग पाचन शक्ति को मजबूती देता है। इसको खाने से पेट में कब्ज और गैस की समस्या कम हो जाती है। इसके अलावा यह पेट में अल्सर की समस्या को दूर करके आँतों के स्वाथ्य के लिए मददगार साबित होता है।

शकरकंद का हलवा

शकरकंद के नुकसान

  • शकरकंद का सेवन मधुमेह के रोगियों को बहुत कम करना चाहिए।
  • जिन लोगो को किडनी में कोई समस्या होती है उनको शकरकंद का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • शकरकंद (Shakarkand) के अत्यधिक सेवन से पेट की समस्या हो सकती है।
  • ज्यादा मात्रा में शकरकंद खाने से गुर्दे की पथरी होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • जिन लोगो को किसी खाने की चीज से एलर्जी होती है उनको शकरकंद संभलकर खाना चाहिए।

FAQs: About Sweet potato

शकरकंद कब खाना चाहिए?

शकरकंद एक पौष्टिक आहार होता है इसलिए इसका सेवन व्रत में किया जाता है। यह शरीर को कमजोरी से बचाता है। शकरकंद (Shakarkand) आँखों के स्वाथ्य के लिए एक अच्छा खाद्य पदार्थ है। यह आँखों को हानिकारक किरणों से बचाता है। इसमें मौजूद विटामिन्स आँखों की देखभाल के लिए एक अच्छा श्रोत हो सकता है।

शकरकंद का उपयोग कैसे करें?

शकरकंद का उपयोग पाचन शक्ति को मजबूती देता है। इसको खाने से पेट में कब्ज और गैस की समस्या कम हो जाती है। इसके अलावा यह पेट में अल्सर की समस्या को दूर करके आँतों के स्वाथ्य के लिए मददगार साबित होता है।

शकरकंद से क्या क्या बनाया जा सकता है?

शकरकंद का हलवा बहुत टेस्टी बनाया जाता है।

शकरकंद में कौन सा तत्व पाया जाता है?

शकरकंद में ऊर्जा, विटामिन, प्रोटीन, शुगर, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, कैल्शियम, फाइबर, ज़िंक, कॉपर, फोलेट जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते है। शकरकंद शरीर के स्वाथ्य के लिए बहुत उपयोगी होता है इसके अलावा इसमें कई सारे औषधीय गुण होते है।

इस लेख के जरिए हमने आपकों शकरकंद कैसे खाएं? | शकरकंद खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताया है। मुझे आशा है कि आप शकरकंद कैसे खाएं? के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे अगर अभी भी आपको कुछ सवाल पूछना है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें या अपनी राय हमें देना चाहते हैं तो जरूर दीजिए ताकि हम आपके लिए कुछ नया कर सकें और यदि आप इस लेख से संतुष्ट हैं तो अपने दोस्तों को अवश्य शेयर करें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Recent Posts

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Trending

%d bloggers like this: